Biological-E Vaccine: क्या है बायोलॉजिकल ई वैक्सिन का नाम, यह कितनी असरदार है और शरीर में कैसे करेंगी काम

आज हमारे देश में Covaxin, Covishield, Sputnik V वैक्सीन उपलब्ध है जो  covid-19 से लड़ने के लिए असरकारक हथियार है।

और तीनों वैक्सीन सामान्य टेक्नोलॉजी पर आधारित है जिसका काम है आपके  Immune system को  Induce करना।

इसी बीच एक वैक्सीन आज चर्चा का विषय बन गई है उसको हम Biological E vaccine कहते हैं।

तो आज हम इसी बारे में बात करेंगे कि  Biological E vaccine क्या है और कैसे काम करती है तो चलिए शुरू करते हैं।

Biological E Vaccine

Biological E vaccine क्या है?

बायोलॉजिकल ई वैक्सीन ‌साइंटिस्ट द्वारा तैयार की गई वैक्सीन है जो कोविड-19 मैं पाए जाने वायरस के प्रति कारगर साबित हुई है।

और यह वैक्सीन अभी अपने ट्रायल फेस में है इस वैक्सीन ने अपने

Trial phase 1st वह Trial phase 2nd को पास कर लिया है अभी हाल ही में इस वैक्सीन ने अपना Trial phase III  Clear कर लिया है।

बायोलॉजिकल ई वैक्सीन एक प्रोटीन Based वैक्सीन है और यह बताया जा रहा है कि यह वैक्सीन दुनिया मैं सबसे ज्यादा लगाए जा रही  तीन वैक्सीन जोकि Pfizer,Moderna, व AntraZeneca को टक्कर देगी।

-Pfizer यह mRNA technology पर  Based है।

-Moderna यह RNA technology पर Based है।

– Antrazeneca की वैक्सीन Covishield यह Adenovirus technology पर Based है।

-Bio E vaccine  यह Protein subunit पर  Based है।

Biological E vaccine name

बायोलॉजिकल ई वैक्सीन के अगर नाम की बात करें तो इसे BioE vaccine के नाम से जाना जाता है।

पर अगर हम इसके Scientific name की बात करें तो यह BECOV2D नाम से जानी जाती है।

Biological e vaccine shares Indian government

आपको यह जानकर अच्छा लगेगा कि इस वैक्सीन के 30,000 करोड़  Doses के लिए सेंट्रल गवर्नमेंट ने अप्रूवल दे दिया है।

और सेंट्रल गवर्नमेंट ने इस वैक्सीन के लिए एडवांस में 15000 करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट कर दिया है।

इस वैक्सीन का प्रोडक्शन  जुलाई तक स्टार्ट हो जाएगा। जून में कुछ डॉक्यूमेंट वर्क कंप्लीट कराने होंगे गवर्नमेंट नियमों के अनुसार यह वैक्सीन जल्द ही उपलब्ध हो जाएगी।

Biological E vaccine Side effects

आपको इस बात का पता होना चाहिए कि कोई भी वैक्सीन लगवाने के बाद आपको साइड इफेक्ट देखने को मिलेंगे। वैक्सीन लगवाने के बाद आपको यह समस्याएं हो सकती है:-

  • बुखार आ सकता है
  • बॉडी पेन भी हो सकता है
  • सिर दर्द भी हो सकता है
  • Loose motion भी हो सकता है

इसका मतलब यह है कि वैक्सीन आपकी बॉडी में जाकर बकायदा सही तरीके से काम कर रही है और आपका immune system वैक्सीन के प्रति respond कर रहा है|

 

किन लोगों को लगेगी बायोलॉजी ई वैक्सिन

तो आइए मिलकर यह जानते हैं की बायोलॉजिकल ई वैक्सीन को किस व्यक्ति को लगवाना चाहिए और किस व्यक्ति को नहीं।

किसको नहीं लगवाना Biology E vaccine

  • 18 साल की उम्र से कम वाले बच्चे।
  •  गर्भवती महिलाएं।
  •  वह महिलाएं जो अपने शिशु को दूध पिला रही हैं।

इन तीन ग्रुप को अभी वैक्सीन लगवाने की आवश्यकता नहीं है।

इन को छोड़कर सभी वैक्सीन लगवा सकते हैं।।

 

किसको लगवाना चाहिए biology e vaccine

हमें अक्सर सुनने को मिलता है कि हमें डायबिटीज है, Heart disease है, Hypertension(मतलब ब्लड प्रेशर का बढ़ जाना) , Tuberculosis (TB) या फिर कोई  Lung का या Brain का या Kidney का etc. शरीर में कहीं भी ऑपरेशन हो चुका है यह हमें Liver की Lung की या घुटनों की वगैरा-वगैरा कोई बीमारी है पहले कभी कैंसर हुआ  है Operation हो चुका है Chemotherapy हो चुकी है और कई बीमारियां हैं वगैरा-वगैरा या मिर्गी का दौरा पड़ता है।

 

बहुत लंबी लिस्ट है बीमारियों की जो लोगों को होती है इन सारी लंबी लिस्ट का सिर्फ एक Answer है कि आप वैक्सीन लगवा सकते हैं।

 

वैक्सीन पर सबसे सटीक Medical advice के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

कहां बनाई जा रही है Biology E Vaccine

यह एक इंडियन कंपनी द्वारा तैयार की गई वैक्सीन है जोकि तेलंगाना की एक कंपनी है। जिसके साथ foreign की एक कंपनी Janssen and janssen ने collaborate किया है।

सावधानी

अगर आपको एलर्जी की समस्या है या फिर फूड एलर्जी की समस्या होती है तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर उसके हिसाब से वैक्सीन लगवाएं‌।।

धन्यवाद!!

 

वैक्सीन लगवाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *