यें तकनीकें बचा रही हैं कैंसर से कई जिंदगीयां और कैंसर का पता कैसे लगाएं

कैंसर के हैं लिए हम यह कह सकते हैं कि दुनिया भर में जो 6 लोगों की मौत होती है तो उसमें 1 व्यक्ति की मौत कैंसर से होती है।

मतलब आप समझ लीजिए 16.66% मौत सिर्फ एक बीमारी से हो रही है और वह है कैंसर।

Treatment of Cancer in Hindi

कैंसर के सबसे ज्यादा मामले एशियाई रीजन में देखने को मिलते हैं जिसमें इंडिया-पाकिस्तान चाइना जैसे बड़े देश आते हैं। जो अकेले 48.4% को कवर करते हैं।

विश्व स्तर के आंकड़ों की बात करें तो 2018 में तकरीबन 18 मिलीयन कैंसर के पेशेंट मिले थे जिसमें 9.5 million पुरुष और 8.5 million महिलाएं थी। उसके बाद के आंकड़े कॉविड की वजह से नहीं आ पाए। यह आंकड़े American institute for Cancer research से लिए गए हैं।

सबसे जादा होने वाला कैंसर

अगर हम कैंसर के प्रकार की बात करते हैं तो फेंफड़ों का कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर सबसे ज्यादा लोगों में पाया जाता है।

यह दोनों कैंसर के प्रकार 12.3 परसेंट कैंसर केसेस में पाए जाते हैं।

Lung cancer ज्यादातर यह पाया गया है कि  lung cancer पुरुषों में होता है जबकि Breast Cancer महिला में होता है।

और तीसरी नंबर पर जो कैंसर का टाइप आता है वह है

Colorectal Cancer यह कैंसर large intestine, Colon मैं होता है और यह वर्ल्ड वाइड 1.8 million cases 2018 मैं देखने को मिले हैं।

 

शरीर में कैंसर कैसे होता है?

कैंसर सेल्स आपके शरीर में लगातार डिवाइड करती है इससे सेल का ग्रुप या गुच्छा बन जाता है जिसे हम Tumour कहते हैं।

Tumour भी दो तरीके के होते हैं पहले तो वे जो एक ही जगह बनते हैं और उसकी Cells उसी organ में पाई जाती है जहां ट्यूमर हुआ है जिसे हम  BENIGH कहते हैं।

और दूसरे वह पहले के मुकाबले काफी खतरनाक है इसकी सेल्स टूट टूट कर आपकी पूरी बॉडी में फैल जाती है, जिसे हम Melignate कहते हैं। और यह Cells बहुत तेजी से बढ़ती है।

यह Cells आपकी normal cells को भी damage करती है।

 

कैंसर का कारण

वे सारे कारण या केमिकल जो कैंसर कर सकते हैं उन्हें हम कार्सिनोजेन कहते हैं या ऑनकोजेनिक फैक्टर कहते हैं।

  • Physical, biological, chemical agents आपकी नॉर्मल सेल को कैंसर सेल में बदलते हैं उन्हें हम कार्सिनोजेन कहते हैं।
  • दूसरा सबसे बड़ा कारण है सूर्य से आने वाली  UV radiation यह भी कैंसर का कारण बनती है UV rays के कारण आपकी स्किन सेल्स म्यूटेशन करती है। इससे आपका DNA भी डैमेज होता है ।
  • X-ray or Gamma ray  यह भी एक बहुत बड़ा कारण है। यह आपके क्रोमोजोम को तोड़ती है यह मान लीजिए यह आपके क्रोमोजोम को abnormal बना देती है।
  • तीसरा सबसे बड़ा कारण है smoking या tobacco का सेवन करना। इनमें कार्सिनोजेन पाया जाता है।
  • Oncogenic virus यह भी कैंसर का एक कारण है। यह Ritrovirus Family के वायरस है जिनमें RNA  प्रजेंट होता है। यह RNA  को  DNA मैं कन्वर्ट करते हैं और फिर यह Genome. मैं जाकर चिपक जाता है और  genome मैं चेंज करता है।

 

 कैंसर का पता कैसे लगाएं?

अगर यदि कैंसर का पता शुरुआत में चल जाए तो उसका इलाज करना आसान होता है।

कैंसर का पता लगाने के लिए हम ( Biopsy )  करते हैं इससे हमें यह पता चल जाता है की किस Particular gland मैं कैंसर हुआ है। फिर हम उस ग्लैंड का FANC (Fine Needle Aspiration Cytology) करते हैं ।

कैंसर का पता लगाने के लिए Blood test वह bone marrow test किया जाता है।

अगर कैंसर आपके internal organs मैं हुआ है तो इसकी जांच करने के लिए रेडियोग्राफी टेक्निक काम में लाई जाती है जिसके example है

CT Scan,X-ray,MRI 

 

कैंसर का इलाज

कैंसर का इलाज के लिए अलग-अलग तरीके अपनाए जाते हैं जिनमें कुछ सामान्य तरीके इस प्रकार है।

 

  • पहला ( Surgery ) अगर एक जगह कैंसर है तो उसे सर्जरी के द्वारा बाहर निकाल दिया जाता है।
  • Radiation से होता है इलाज क्योंकि कैंसर करने वाली सेल्स बहुत ज्यादा सेंसिटिव होती है रेडिएशन के प्रति इसलिए रेडिएशन कैंसर Cells  को डैमेज करता है। इसमें इस बात का भी ध्यान दिया जाता है कि आपकी नॉर्मल सेल्स डैमेज ना हो।
  • chemotherapeutic drugs का इस्तेमाल किया जाता है, यह कैंसर सेल्स को प्राइमरी मार देती है।
  • पर इसके कुछ Side effect भी हैं जैसे hair loss ,anaemia(मतलब खून की कमी)  etc.
  • इसका का इलाज करने के लिए जो डॉक्टर ज्यादातर करते है उसमें surgery, radiotherapy, chemotherapy का बारी-बारी से प्रयोग में लाया जाता है।

 

कैंसर का घरेलू स्तन पर उपचार

कैंसर जैसी बड़ी बीमारी का कोई घरेलू इलाज तो नहीं है पर एक घरेलू इलाज है, जो scientifically proof है।

आपको हफ्ते में 7 दिन में से एक दिन फास्टिंग रखनी होगी अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो आप कई हद तक कैंसर का इलाज कर सकते हैं।

आज हमारे साइंटिस्ट और डॉक्टर इसी खोज में लगे हुए हैं कि जल्द से जल्द कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों का इलाज मिल सके और यह माना जा रहा है 2030 तक कैंसर जैसी बड़ी बीमारी का इलाज संभव होगा।

अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर की सलाह ले।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *