मधुमेह से बचने के लिए खानपान का रखे ख़ास ध्यान, यें घरेलू उपाय डायबिटीज बीमारी को करेंगे कंट्रोल

मधुमेह एक लाइफस्टाइल प्रॉब्लम है। मधुमेह जिसको हम इंग्लिश में diabetes mellitus कहते हैं। मधुमेह मतलब आपके शरीर में शुगर का लेवल का लगातार बड़े रहना। जिससे आपकी बॉडी में कुछ कॉम्प्लिकेशन होती है उसे मधुमेह कहते हैं।

डायबिटीज की जांच

आपके शरीर में शुगर के लेवल को जांचने के लिए 2 तरीकों में बांटा जाता है पहला खाली पेट ( fasting ) और एक खाना खाने के बाद।

तो आइए इन दोनों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

  • फास्टिंग के दौरान यदि खून में शुगर की मात्रा 125mg/dl से कम है तो आपको डायबिटीज की समस्या है यह आंकड़ा वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन  द्वारा दिया गया है।
  • खाना खाने के 2 घंटे के बाद यदि शुगर की मात्रा आपके शरीर में 145mg/dl से अधिक पाया जाए तो वह व्यक्ति भी मधुमेह का मरीज है।

आखिर डायबिटीज कितने प्रकार की होती है

डायबिटीज दो प्रकार की होती है:-

  • Type 1 diabetes:-ज्यादातर छोटे बच्चों में पाई जाती है। इस तरह का मधुमेह ज्यादातर 20 साल की कम उम्र वालों में पाया जाता है।
  • Type 2 diabetes:-आजकल ज्यादातर भारत में लोग इस तरह की डायबिटीज का शिकार हो रहे हैं। इस तरह के मधुमेह मैं आपके इंसुलिन की क्षमता कम हो जाती है ‌। या इंसुलिन सही से काम नहीं कर रहा हो। या इंसुलिन का आवश्यकता के अनुसार निर्माण ना हुआ हो। इस तरह की डायबिटीज का शिकार 35 साल की उम्र के ऊपर वाले लोगों को होते हैं।

 

डायबिटीज के लक्षण

वैसे तो मधुमेह के कई अलग-अलग लक्षण है पर आज हम उन लक्षणों की बात करेंगे जो कॉमन है:-

  • बार-बार प्यास का लगना
  • भूख का बढ़ जाना।
  • अचानक वजन बढ़ना या गिरना।
  • थकान और कमजोरी
  • आंखों से धुंधला दिखाई देना
  • घाव का ज्यादा ना भरना।
  • पेशाब अधिक आना।
  • खुजली ज्यादा होना।
  • किडनी का खराब हो जाना।
ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें या फिर अपने ब्लड की जांच कराएं।

जल्दी-जल्दी खाने से बढ़ता है शुगर लेवल

कुछ लोग बहुत तेजी के साथ खाते हैं। वे भोजन देखकर उस पर टूट पड़ते हैं। ऐसे लोगों को अपच के अलावा मधुमेह और टाइप-2 का खतरा बढ़ जाता है।

तेजी के साथ खाने से व्यक्ति का शुगर लेवल भी तेजी के साथ बढ़ जाता है।

डायबिटीज से बचाव

  • फास्ट फूड खाने से कम से कम बच्चे क्योंकि फास्ट फूड खाने से आप कई अधिक मात्रा में कैलोरी का सेवन कर लेते हैं।
  • अपने लाइफ स्टाइल में कम कैलोरी वाले खाने का सेवन करें।
  • 30 मिनट से 45 मिनट की रोज एक्सरसाइज करें रोज मतलब रोज।

डायबिटीज में खानपान पर ध्यान दें

  • अगर आप डायबिटीज के पेशेंट है तो आपको मीठी चीजें बंद कर देनी चाहिए। जैसे मिठाइयां हो गई मीठे फल हो गए उनका जूस हो गया।
  • सब्जियां सारिका सकते हैं बस आलू वगैरह, शकरकंद, अरबी, इत्यादि अधिक मात्रा में कैलोरी देने वाली सब्जियों को खाना बंद कर दें।
  • आप हर तरह की दाल खा सकते हैं, छोले वगैरह भी खा सकते हैं बहुत ज्यादा भी नहीं पर कभी कभी खाना होता है।
  • हरी सब्जियों का सेवन अधिक मात्रा में करें।
  • तेल से बनी हुई चीजों को खाना कम करें।

 

डायबिटीज के घरेलू उपाय

डायबिटीज जैसी बीमारी को अगर कंट्रोल नहीं किया गया तो यह आपको काफी हानि पहुंचा सकती है तो हम इसका आपको एक घरेलू उपाय बताएंगे पर यह अभी तक साइंटिफिकली प्रूफ नहीं हुआ है।

  • आपको सुबह शाम करेले के जूस का एक गिलास पीना है।
  • 4 से 5 नीम की कच्ची पत्तियां रोज सुबह खाने से आपके शरीर में शुगर का लेवल कम होता है। बस चार से पांच ही खाए ज्यादा नहीं क्योंकि यह आपको नुकसान भी पहुंचा सकती है।
  • हरी सब्जियों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें।

 

Note:- अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।