गर्मियों में खाएं छाछ-राबड़ी मिलेगी ठंडक, छाछ-राबड़ी और लस्सी पीने से मिलेंगे यें फायदे और बनाने की विधि

मार्च-अप्रैल में गर्मियों की शुरुआत हो जाती है। ऐसे गर्मी के मौसम में शरीर को ठंडक की जरूरत होती है ऐसे में हम मौसम के अनुसार और घर में बनाए जाने वाले खाने से अपने शरीर को अच्छी ठंडक दे सकते हैं।

आइए जानते हैं कि कौन से भोजन है जोकि शरीर को गर्मी से बचाकर शरीर को ठंडक प्रदान करेंगे और जिन्हें आसानी से घर पर बनाया जा सकता है।

Rajasthani Rabdi in hindi

ठंडक के लिए राबड़ी खाएं

जौं-गुली की राबड़ी

स्कोर (जौ) को अंग्रेजी में बारले (Barley) कहते हैं। जौं अनाज को कूटकर गुली बनाई जाती है जिससे राबड़ी बनाते हैं।

गांव में जौं-गुली की राबड़ी को काफी ज्यादा पसंद किया जाता है।

जौ खाने के फायदें

  • इस राबड़ी को खाने से पेट पूरी तरह भर जाता है।
  • इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर पाए जाते हैं जो कि हमारे पाचन तंत्र को दुरुस्त रखते हैं।
  • इसके अलावा इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन बी-6 पाया जाता है।
  • मधुमेह (diabetic) मरीजों को जौ वाले अनाज का नियमित सेवन करना चाहिए क्योंकि यहां रक्त से इंसुलिन को कम करता है और मधुमेह से बचाता है।
  • इसमें एक बहुत अच्छा खनिज पदार्थ पाया जाता है जो त्वचख को रेडिकल्स से नुकसान होने से बचाते हैं।
  • वजन घटाने में भी कारगर है जौ।
  • हृदय रोग से बचाव करता है।

जौ की राबड़ी बनाने की विधि

इसकी राबड़ी बनाने के लिए अपनाएं यह विधि

  • जौ को पानी में भिगो ले इसके बाद
  • इसे ओखली में डालकर कूट लें
  • कूटने के बाद सुखाएं
  • सूखने के बाद जौ से छिलकों को निकाल दे
  • अब इसे दोबारा कुटे ताकि इसके छिलके पूरी तरह निकल जाएं।
  • चक्की की मदद से जौ का दलिया पिस लें
  • इसके बाद किसी बर्तन में पानी और छाछ डालकर गैस पर चढ़ा दें और इसमें
  • जौ का पिसा हुआ दलियें डालें
  • चावल के दाने भी मिला सकते हैं।
  • अब इसे लगातार हिलाते रहे।
  • इसे तैयार होने के बाद गैस से उतार लें।

 

गेहूं की राबड़ी

भारत में नियमित रूप से अधिकतर लोग गेहूं का ही इस्तेमाल करते हैं। यह हर तरीके से फायदेमंद होता है इसमें प्रचुर मात्रा में फास्फोरस, आयरन, मैग्नीशियम और कॉपर पाया जाता है। यह हमें कई बीमारियों से बचाता है और हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है।

गेहूं की राबड़ी बनाना आसान होता है और इसे लोग खाना भी अधिक पसंद करते हैं। क्योंकि यह स्वादिष्ट होने के साथ-साथ बहुत फायदेमंद ही होती है।

 

गेहूं की राबड़ी बनाने की विधि

राबड़ी बनाने के लिए गेहूं का दलिया पीस लें।

गैस चूल्हे पर बर्तन में पानी और छाछ डालकर चढ़ाएं।

इसमें गेहूं का दलिया मिलाएं।

अब लगातार इसे हिलाते रहे।

थोड़ी देर में राबड़ी की बनकर तैयार हो जाएगी।

 

राबड़ी को कैसे खाएं?

जौं-गुली की राबड़ी को अधिकतर गर्मी के मौसम में लोग छाछ के साथ खाना ज्यादा पसंद करते हैं।

अगर आप ठंडी चीजों से परहेज करते हैं या आपको सर्दी-खांसी है और आप इसे खाना अधिक पसंद करते हैं, तो इस राबड़ी को आप दूध के साथ भी खा सकते हैं।

राबड़ी तैयार होने के कुछ देर बाद गर्मा-गर्म भी खा सकते हैं।

राबड़ी खाने से शरीर को ठंडा मिलती है, इसके लिए रात की बनाई हुई राबड़ी को सुबह खाई जाएं। सुबह आप इसे छाछ के साथ मिलाकर खाएं।

 

दलिया और छाछ खाएं

यदि आप वर्कआउट रहे हैं और इसके लिए आप डाइट चार्ट फॉलो करते हैं, तो कुछ में दलिया भी होगा। इसमें भरपूर मात्रा में डाइटरी फाइबर होते हैं।क

दलिया खाने से भोजन भी जल्दी पचता है।

अगर इसको छाछ के साथ खाया जाए तो हमारे शरीर को ठंडक में मिलेगी जो कि गर्मियों के लिए काफी अच्छी है।

दिन में इसे आप सुबह खाने के साथ और दोपहर में खा सकते हैं।

 

गर्मियों में लस्सी पीने से मिलता है फ़ायदा

लस्सी को भारत में अधिक पसंद किया जाता है। यह है दही से बनती है। इसमें थोड़ी बहुत मक्खन होता है, जो कि इसे स्वादिष्ट बनाता है।

 

इसे पीने से कई प्रकार के फायदे मिलते है आइए देखते हैं-

  • पेट की बीमारियों से मिलता है, छुटकारा
  • शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और आने वाले संक्रमण से भी बचाता है।
  • इसमें अच्छी खासी कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है इसलिए यह शरीर की हड्डियों के लिए काफी अच्छी है। यह हड्डियों को मजबूत बनाती है।
  • पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में मदद करती है।
  • शरीर को हाइड्रेट रखती है और पानी की कमी से भी बचाती है।
  • वजन को बढ़ाने में भी मदद करती है।
  • गर्मियों में राहत देती है लस्सी

 

गर्मी में राहत देती छाछ

गर्मियों के समय में लोगों का सहारा बन जाती है छाछ। सभी लोग छाछ को काफी ज्यादा पसंद करते हैं। यह गर्मी से राहत दिलाती है।

छाछ को दही से तैयार किया जाता है। इसमें से मक्खन को पूरी तरीके से निकाल लिया जाता है और जो बजाता है वह छाछ बन जाती है।

छाछ खाने के फायदें

  • पाचन शक्ति को मजबूत बनाती है छाछ
  • शरीर में पानी की कमी नहीं होने देती है और शरीर को हाइड्रेट करती है।
  • गर्मी से बचाकर शरीर को ठंडक देती है।
  • पाचन शक्ति को दुरुस्त बनाती है।
  • पेट से कीटाणुओं को मारती है।
  • इसमें अच्छी काशी कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है जो हमारे दांतो और हड्डियों के लिए अच्छा है।
  • एसिडिटी से राहत मिलती है।

छाछ में मिलाए पुदीना और ज़ीरा

पुदीना और ज़ीरा काफी अच्छा होता है अगर गर्मी के समय में इसे छाछ में मिला दिया जाए तो हमें इनसे काफी अच्छा फायदा देखने को मिलेगा तो आइए जानते हैं किस प्रकार से हम इसे छाछ में मिलाकर खा सकते हैं।

 

  1. पुदीने की पत्तियों को सुखा लें और अंशु की उपलब्धियों को शासन मिलाकर खाएं इससे यह स्वादिष्ट भी लगेगी साथ ही ठंडक भी मिलेगी।
  2. जीरे को छाछ में मिलाने के लिए सेक लें और उसे कूटकर चूर्ण बना लें अब इसे आप छाछ में मिला सकते हैं, इससे पाचन शक्ति काफ़ी मजबूत होगी।