इन लक्षणों को पहचानकर शरीर को 8 तरीकों से करें डिटॉक्स

शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना ही शरीर की शुद्धि क्रिया या डिटॉक्स करना है। 

लेकिन यह कैसे पता चलता है कि अब शरीर को डिटॉक्स करने की जरूरत है? यह सब कुछ लक्षणों से पता चलता है आइए देखें वह कौन से लक्षण है।

जब हम बिना किसी कारण सुस्ती महसूस करते हैं, खाना ठीक से नहीं पचता, पेट भरा भरा सा महसूस होता है, तब शरीर की सफाई या डिटॉक्स करना चाहिए। शरीर की अंदरूनी शुद्धि से हम स्वस्थ और सुंदर रह सकते हैं। 

1.फलों और सब्जियों का अधिक सेवन करें

अपनी नियमित डाइट में फल और सब्जियों को शामिल करें। ऐसा करने से लिवर एंजाइम सक्रिय होते हैं जिससे शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकलने में मदद मिलती है। अधिक सब्जियों और फलों के सेवन से शरीर को प्रचुर मात्रा में फाइबर भी मिलता है, वजन कंट्रोल में रहता है और हम हैल्दी बने रहते हैं।

फल/सब्जियों का अधिक सेवन करें और तंदुरूस्त रहें।

2. पानी खूब पिएं

शरीर की अंदरूनी शुद्धि के लिए पानी का अधिक सेवन सबसे अच्छा तरीका है। दिन भर में 10 से 12 गिलास पानी पिएं। दिन में एक बार एक गिलास नींबू-पानी पिएं। नींबू के सेवन से शरीर में क्षार की मात्रा बढ़ती है जो शरीर की सफाई के लिए ठीक है।

3. तेल में तला खाना ना खाएं

तला हुआ मसालेदार खाना सभी को स्वादिष्ट लगता है पर सेहत के लिए यह ठीक नहीं होता। अगर आप तंदुरूस्त रहना चाहते हैं और शरीर से विषैले तत्वों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो तले-भुने खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।

 

4. व्यायाम और ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें 

नियमित रूप से रोजाना 45 मिनट का व्यायाम हमारी बॉडी को डिटॉक्स करने में मदद करता है। अपने दिन की शुरूआत वाकिंग, रनिंग, ब्रिस्क वाक या साइकलिंग से कर सकते हैं। लंबे गहरे सांसों के अभ्यास से शरीर में ऑक्सीजन का संचार सुचारू रहता है।

 

5. खाना धीरे-धीरे खाऐं

अगर खाना धीरे धीरे चबा कर खोंगे तो खाने का शरीर को पूरा लाभ मिलेगा। पूरी तरह से खाना पचाने के लिए खाना धीरे और चबाकर खाना चाहिए। इससे हमारी पाचन क्रिया दुरूस्त बनी रहती है। डिटॉक्सिफिकेशन प्रक्रिया के दौरान खाना हल्का खाएऐं। खाने में अंडा और लहसुन का सेवन करें ताकि इनमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट शरीर में मौजूद विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद कर सकें।

 

6. चीनी का सेवन कम से कम करें

चीनी का अधिक सेवन शरीर के लिए जहर समान होता है। अगर आप जहर को बाहर निकालना चाहते हैं तो चीनी-शक्कर का सेवन कम से कम करें।

 

7. हर्बल टी का सेवन करें

हर्बल टी का सेवन रक्त संचार को बढ़ाता है जिससे शरीर के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं।

 

8. नींद पूरी लें और खुश रहें

8 घंटे की नींद शरीर को आलस्य और सुस्ती से दूर रखती है, इसलिए रात्रि को समय पर सोकर प्रातः समय पर जल्दी उठें। इससे शरीर चुस्त रहेगा।

खुश रहने का प्रयास भी करें क्योंकि मन का प्रभाव हमारे तन पर भी पड़ता है।

निगेटिव लोगों से दूर रहे, सकारात्मक और क्रियाशील बने रहें खुशमिजाज, पॉजिटिव लोगो का साथ शरीर में फील गुड हार्मोन्स को सक्रिय करता है, इसलिए खुश रहें।

 

9. मालिश करें

शरीर की मालिश करने से रक्त संचार को बढ़ाता है। इससे विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। नियमित मसा थेरेपी अपनाकर आप अपने को डिटॉक्स कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *